Biography Hindi

संबित पात्रा का परिचय(Biography)?

Sambit Patra Hindi Biography

डॉ. संबित पात्रा भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता हैं। वह 2011 से इस पद पर हैं। बता दें कि संबित पात्रा बीजेपी के सबसे बड़े नेताओं में से एक माने जाते हैं, लेकिन इसके बावजूद साल 2019 में हुए लोकसभा चुनाव में वे अपनी सीट नहीं बचा सके। लोकसभा चुनाव में उन्होंने ओडिशा की पुरी सीट से अपना नामांकन दाखिल किया।

  • नाम       डॉ. संबित पात्रा
  • जन्म      13 दिसंबर 1974
  • आयु        46 वर्ष
  • जन्मस्थान      धनबाद, झारखंड
  • पिता का नाम     रवींद्रनाथ पात्रा
  • व्यवसाय   राजनीति, डॉक्टर
  • पार्टी      भारतीय जनता पार्टी
  • शैक्षिक योग्यता      एमबीबीएस (1997),
  • जनरल सर्जरी में एमएस (2002),
  • यूपीएससी क्वालिफाइड (2003)
  • धर्म          हिन्दू
  • कुल संपत्ति      लगभग 72 लाख

संबित पात्रा का जन्म 13 दिसंबर 1974 को झारखंड के धनबाद जिले के एक उड़िया परिवार में हुआ था। संबित पात्रा के पिता का नाम रवींद्रनाथ पात्रा है। उनके पिता बोकारो स्टील प्लांट में काम करते थे।

विवाह और बच्चे

संबित पात्रा अविवाहित हैं। दरअसल, 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान दिए गए अपने हलफनामे में उन्होंने अपनी पत्नी की जगह NIL लिखा था. साल 2020 में एक खबर वायरल हुई थी, जिसमें दावा किया गया था कि संबित पात्रा की बेटी ने एक मुस्लिम युवक से शादी की है।

Read More: Sudha Chandra Biography in Hindi

संबित पात्रा शिक्षा

संबित पात्रा ने अपनी शुरुआती पढ़ाई बोकारो के चिन्मय विद्यालय से पूरी की। इसके बाद उन्होंने यहीं से इंटर की पढ़ाई की। इसके बाद संबित पात्रा ने वर्ष 1997 में ओडिशा के वीएसएस मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल से एमबीबीएस की डिग्री हासिल की। ​​फिर संबित पात्रा ने एससीबी मेडिकल कॉलेज, कटक से जनरल सर्जरी में मास्टर्स किया। इसके बाद भी संबित यहीं नहीं रुके, उन्होंने वर्ष 2003 में उत्तर प्रदेश सिविल सेवा की संयुक्त चिकित्सा सेवा परीक्षा भी पास की।

संबित पात्रा करियर

संबित पात्रा ने यूपीएससी परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद राव अस्पताल, मलकागंज, अपना चिकित्सा करियर शुरू किया। कुछ समय तक संबित ने मेडिसिन और राजनीति साथ-साथ की। लेकिन बाद में उन्होंने अपने मेडिकल करियर से इस्तीफा दे दिया और पूरी तरह से राजनीति में आ गए।

साल 2010 में राजनीति की शुरुआत

संबित पात्रा ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत साल 2010 में की थी। उन्होंने साल 2010 में भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ली थी। इसके बाद बीजेपी ने उन्हें दिल्ली का प्रवक्ता बनाया था। इसके बाद संबित 2012 में कश्मीर गेट से नगर निगम चुनाव हार गए। इस दौरान उन्होंने अपने मेडिकल करियर से भी इस्तीफा दे दिया।

वर्ष 2011 में राष्ट्रीय प्रवक्ता

संबित पात्रा को वर्ष 2011 में भाजपा द्वारा राष्ट्रीय प्रवक्ता के रूप में नियुक्त किया गया था। तब से वह अभी भी इस पद पर हैं।

2006 में, संबित पात्रा ने विशेष रूप से ओडिशा और छत्तीसगढ़ में दलितों और आदिवासियों के लिए स्वास्थ्य और शिक्षा में सुधार के लिए स्वराज नामक एक गैर सरकारी संगठन की शुरुआत की।

2- 2010 में उन्हें दिल्ली बीजेपी का प्रवक्ता नियुक्त किया गया।

Read More: Mohammad Azharuddin Biography in Hindi

3- राजनीति पर ध्यान केंद्रित करने के लिए उन्हें 2012 में चिकित्सा अधिकारी के रूप में शासन किया। उन्होंने भाजपा उम्मीदवार के रूप में दिल्ली के कश्मीरी गेट से नगर निगम का चुनाव लड़ा, लेकिन चुनाव हार गए।

4- 2014 में उन्होंने लोकसभा चुनाव के लिए प्रचार किया और राष्ट्रीय टेलीविजन पर एक जाना-माना चेहरा बन गए। 2014 के चुनावों में भाजपा को पूर्ण बहुमत मिलने के बाद, संबित पात्रा को भाजपा का राष्ट्रीय प्रवक्ता नियुक्त किया गया था।

5- 2017 में, उन्हें एसीसी (कैबिनेट की नियुक्ति समिति) द्वारा ओएनजीसी का गैर-आधिकारिक निदेशक नियुक्त किया गया था।

6- 2019 में उन्होंने फिर चुनाव लड़ा। उन्होंने 2019 के आम चुनाव में पुरी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा, लेकिन बीजू जनता दल (बीजद) के पिनाकी मिश्रा से हार गए।

क्यों चर्चा में रहते हैं संबित पात्रा:

1- उन्होंने फरवरी 2016 में इवो जीमा पर ध्वजारोहण की एक हेरफेर की हुई छवि दिखाई और दावा किया कि वे भारत के साथ सीमा पर भारतीय सेना के जवान थे। हालाँकि, वास्तविक छवि द्वितीय विश्व युद्ध की थी।

2- जून 2017 में, संबित पात्रा ने एक पाकिस्तानी समाचार वेबसाइट के एक ट्वीट को रीट्वीट किया। न्यूज वेबसाइट का ट्वीट भ्रामक खबरों पर आधारित था।

3- अगस्त 2017 में, संबित पात्रा ने 2015 से भारत के पूर्व उपराष्ट्रपति की एक तस्वीर ट्वीट की, जिसने इस विवाद को गर्म कर दिया कि परेड का नेतृत्व करने वाले कमांडिंग ऑफिसर को सलामी न देकर उनका अपमान किया जा रहा है। हालांकि, सही प्रोटोकॉल यह था कि परेड का नेतृत्व करने वाले कमांडिंग ऑफिसर के बदले में केवल भारत के राष्ट्रपति ही सलामी देंगे।

4- एक टीवी डिबेट में संबित पात्रा ने जेएनयूएसयू के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार का जेएनयू में अलगाववादी नारे लगाते हुए एक मॉर्फ्ड वीडियो दिखाया।

5- मई 2020 में, संबित पात्रा के खिलाफ झूठी टिप्पणी करने और भारत के पूर्व प्रधानमंत्रियों जवाहरलाल नेहरू और राजीव गांधी को बदनाम करने के लिए एक गैर-संज्ञेय रिपोर्ट भी दर्ज की गई है।

Read More: Vijender Singh Biography in Hindi

आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी कैसे लेगी आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं ,यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते हैं.

Add comment

Follow us

Don't be shy, get in touch. We love meeting interesting people and making new friends.