Biography Hindi

सोनू निगम की जीवन परिचय(Biography)?

Sonu Nigam Hindi Biography

सोनू निगम भारत के प्रसिद्ध गीतों में से एक है, सोनू ने गायन में गाने गाए हैं जैसे- हिंदी, पंजाबी, गुरुती, ट्वीट, ने, मारानागु, माराना, तू, उड़िया, ने, …. सोनू ने साथ में काम भी किया है . समाधान भी सुरक्षित है। सोनू मो रफी के गाने गाते हैं और वह उनके सब को रफी सब को हैं। सोनू ने अब तक अलग-अलग अलग-अलग गेम में गाना गाया है।

  • पूरा नाम – सोनू निगम
  • निक नेम – प्रेस्ली ऑफ इंडिया
  • पेशा – गायक, संगीतकार, संगीत निर्देशक
  • लंबाई – 5 फीट 7 इंच
  • वजन – 70 किलो
  • आंखों का रंग – गहरा भूरा
  • बालों का रंग – काला
  • जन्मदिन – 30 जुलाई 1973
  • जन्म स्थान – हरियाणा: फरीदाबाद, भारत
  • आयु – 2021 के अनुसार 48 वर्ष
  • राशि – सिंह

Read More: Jairam Jailalitha Biography in Hindi

  • गृहनगर – भारत, नई दिल्ली
  • स्कूली शिक्षा – जेडी टाइटलर स्कूल नई दिल्ली
  • कॉलेज की पढ़ाई – नई दिल्ली विश्वविद्यालय
  • डिग्री – स्नातक
  • डेब्यू – प्लेबैक सिंगर के रूप में (बेवफा सनम) फिल्म
  • पहला एल्बम – रफ़ी की यादों (1993)
  • संगीत निर्देशक के रूप में – सुपर से एबव (2013)
  • पहली फिल्म – जानी दुश्मन: एक अनोखी कहानी (2002)
  • सोनू निगम का जन्म
  • भारत के प्रसिद्ध गायक सोनू निगम का जन्म 30 जुलाई 1973 को हुआ था। सोनू निगम का जन्म हरियाणा के फरीदाबाद शहर में हुआ था।

सोनू निगम परिवार

सोनू निगम के परिवार में कुल पांच लोग हैं, एक सोनू निगम और उनकी दो छोटी बहनें और माता-पिता सोनू के पिता का नाम आगम निगम है और वह एक प्रसिद्ध गायक भी हैं। सोनू की मां का नाम शोभा निगम है। और वह एक गृहिणी है। सोनू की बहनों का एक नाम मीनल और दूसरे का नाम निकिता है।

सोनू निगम की शिक्षा

सोनू निगम ने अपनी स्कूली शिक्षा दिल्ली के जेडी टाइटलर स्कूल से की और कॉलेज की पढ़ाई नई दिल्ली विश्वविद्यालय से की, सोनू निगम ने भारत के प्रसिद्ध गायक गुलाम मुस्तफा खान से संगीत की शिक्षा ली। सोनू निगम को शुरू से ही गाने का शौक था, वह अपने पिता आगम निगम से गाने गाने का अभ्यास करते थे।

Read More: Sanjay Dutt Biography in Hindi

सोनू निगम का कैरियर और पहला गाना

1) सोनू निगम महज सत्रह साल की उम्र में अपने पिता के साथ गायन के क्षेत्र में अपना करियर बनाने के लिए मुंबई आ गए। उस समय सोनू निगम ने उस्ताद गुलाम मुस्तफा साहब से संगीत के गुर सीखे थे। सोनू निगम मुंबई जैसे महंगे शहर में दो वक्त खाने और रहने के लिए स्टेज शो किया करते थे। सोनू निगम गाने के लिए कई रिकॉर्डिंग स्टूडियो में जाया करते थे। बदले में उन्हें काम का आश्वासन दिया गया, लेकिन उन्हें काम नहीं मिला।

2) और कई बार ऐसा होता था कि संगीत निर्देशक उन्हें गाने गाते थे लेकिन उस गाने को रिलीज ही नहीं करते थे। प्लेबैक सिंगर बनने के साथ-साथ सोनू निगम ने भी अपने करियर के शुरुआती दिनों में काफी संघर्ष किया। लेकिन सोनू निगम के सिंगिंग करियर को एक नया मोड़ तब मिला जब टी-सीरीज के मालिक गुलशन कुमार ने उन्हें बड़े दर्शकों तक पहुंचने का मौका दिया। सोनू निगम की आवाज में एलबम ‘रफी की यादों’ का विमोचन किया। यह एल्बम रिलीज़ होने पर एक बड़ी हिट साबित हुई और वर्ष का सबसे अधिक बिकने वाला एल्बम बन गया।

3) ये एल्बम रिलीज होते ही बहुत सुपरहिट साबित हुआ और साल का सबसे ज्यादा बिकने वाला एल्बम बन गया। प्लेबैक सिंगर के तौर पर सोनू निगम का पहला गाना जानम के लिए थे जो को आधिकारिक तौर पर रिलीज नहीं हुई। जिसके बाद वो रेडियो कमर्शियल भी बनाने लगे और कुछ फिल्मों में एक्टर के रूप में काम भी किया।

4) सन 1997 में गोविंदा की आयी फिल्म Hero No.1 में इन्होंने गाने दिए। इस फिल्म के गानों ने सोनू निगम के कैरियर को एक नया मोड़ दिया। इसके बाद 1998 में सोनू निगम का गाना ‘लड़की कमाल है कि अँखियों से गोली मारे’ रिलीज हुआ जो उस साल सबसे पॉपुलर गाना बना। इसके बाद 2004 में सोनू निगम ने आयी फिल्म ‘वीरजरा’ में ‘दो पल रुका ख्वाबों का कारवां’ गाना गाकर लोगों के बीच एक अलग ही पहचान बना ली। ये गाना उस समय बच्चे, बूढ़े और नौजवान सबके जुबान पर था।

Read More: Atal Bihari Vajpayee Biography in Hindi

5) यहाँ तक कि ये गाना आज भी लोगों के दिलों पर राज करता हुआ आ रहा है। लेकिन सोनू निगम के कैरियर का सबसे बड़ा मोड़ उस समय आया जब उन्होंने फिल्म बॉर्डर में अनु मलिक के द्वारा कम्पोज किया गया गाना ‘संदेशे आते हैं’ गाया। ये गाना उनके करीयर को एक नई ऊंचाई दी और ये गाना काफी सुपरहिट साबित हुआ। इस गाने के बाद पूरे भारत में सोनू निगम के गायिकी का लोग लोहा मानने लगे। वहीं फिल्म परदेश का गाना ‘ये दिल’ ने लोगों के दिल को जीत लिया। ये गाना काफी सुपरहिट साबित हुआ। फिर 1999 में सोनू निगम का एल्बम ‘दीवाना’ रिलीज हुआ। इस एल्बम का संगीत साजिद वाजिद ने दिया था। इस एल्बम का सभी गाने काफी लोकप्रिय हुए।

आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी कैसे लेगी आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं ,यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते हैं.

Add comment

Follow us

Don't be shy, get in touch. We love meeting interesting people and making new friends.